REPUBLIC DAY SPEECH IN HINDI

REPUBLIC DAY SPEECH IN HINDI :  गणतंत्र दिवस पर देना है शानदार और जोशीला भाषण, तैयार करें ऐसा भाषण कि नहीं रुकेगी तालियाँ 

Samay Samachr Digital Desk, नई दिल्ली : REPUBLIC DAY SPEECH IN HINDI : हम हर साल 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस मनाते हैं क्योंकि इस दिन हमारे देश का संविधान लागू हुआ था. इस साल भारत अपना 75 वां गणतंत्र दिवस मनाएगा. इस दिन देश की राजधानी दिल्ली में कर्तव्य पथ (राजपथ) पर परेड का आयोजन होता है और विभिन्न झांकियां निकाली जाती है. साथ ही देश के सभी स्कूल्स और कॉलेज्स में भी सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन होता है.

इन कार्यक्रमों में देश बच्चों को इतिहास के बारे में बताने के लिए एवं प्रेरित करने के लिए भाषण दिया जाता है. अगर आप भी इस साल 26 जनवरी को सांस्कृतिक कार्यक्रम में हिस्सा ले रहे हैं और आपको भाषण देना है तो आज हम आपके लिए शानदार भाषण लेकर आए हैं, जो आपकी काफी मदद कर सकता है. 

REPUBLIC DAY SPEECH IN HINDI : ऐसे करें भाषण की शुरुआत 

अगर आप भाषाण लिख रहे हैं तो उसमें सबसे पहले कार्यक्रम में उपस्थित लोगों के अभिवादन के बारे में जरुर लिखें. और यदि आप ये भाषण किसी स्कूल में देने वाले हैं तो स्कूल के प्रधानाचार्य, कार्यक्रम के मुख्य अतिथि, शिक्षकों के साथ ही छात्रों का भी अभिवादन करें. 

गणतंत्र दिवस की शुभकामनाओं के साथ शुरू करें भाषण 

अभिवादन के पश्चात् गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं देने के बाद ही अपना भाषण शुरू करें. इसके बाद आप गणतंत्र दिवस के बारे में थोड़ी जानकारी दें और बताएं कि इस साल हम कौनसा गणतंत्र दिवस मना रहे है. 

इसके बाद आपको गणतंत्र के इतिहास के बारे में बताना है जैसे की हमने इसे कब से मनाना प्रारम्भ किया गया, ये क्यों मनाया जाता है. आप इसके साथ संविधान से संबधित जानकारियां भी जोड़ें जैसे इसे किसने तैयार किया, इसे तैयार होने में कितना समय लगा. साथ ही आप सविंधान सभा और उसके सदस्यों के बारे में भी जानकारी दे सकते है. 

भाषण के बीच करें कविताओं का प्रयोग 

REPUBLIC DAY SPEECH IN HINDI

आप अपने भाषण के बीच-बीच में कविताएं और शायरियां भी शामिल कर सकते है. ध्यान रहे कि कविताएं और शायरियां प्रेरणादायक होनी चाहिए. इससे आपका भाषण और रोचक बनेगा जिससे लोग बोर नहीं होंगे और ध्यान लगाकर सुनेंगे. 

REPUBLIC DAY SPEECH IN HINDI : फैक्ट्स को करें शामिल 

आप अपने भाषण में ज्यादा से ज्यादा फैक्ट्स शामिल करें जिससे लोगों को नई जानकारियां मिलेगी और उनके ज्ञान में वृद्धि होगी. इसके साथ ही उनको कुछ नया सुनने को मिलेगा और उन्हें आपका भाषण प्रभावशाली लगेगा. 

आभार व्यक्त करते हुए खत्म करें भाषण 

भाषण को समाप्त करते समय कार्यकम के सभी अथितिगण, शिक्षकों और छात्रों का आभार जरुर व्यक्त करें. आभार व्यक्त करने के लिए आप कोई शायरी या कविता भी बोल सकते हैं. 

REPUBLIC DAY SPEECH IN HINDI : गणतंत्र दिवस के लिए भाषण 

सबसे पहले आपको कार्यक्रम में उपस्थित सभी लोगों का अभिवादन और स्वागत करने के साथ अपना परिचय देना है. और इसके बाद आप अपना भाषण शुरू कर सकते हैं….

आज हम सब यहां पर इस खास दिन को मनाने के लिए एकत्रित हुए हैं, जो हमें गौरव की अनुभूति करवाता है और एक मजबूत राष्ट्र के रूप में प्रगति करने की प्रेरणा देता है. 74 साल पहले इसी दिन यानि 26 जनवरी 1950 को हमारे देश का संविधान लागू हुआ था और भारत गणराज्य की स्थापना हुई थी. उस दिन से लेकर आज तक हम इस दिन को गणतंत्र दिवस के रूप में मनाते हैं. 

जब हमें आजादी मिली थी उस समय हमारे देश के पास अपना कोई संविधान नहीं था, लेकिन कुछ समय बाद डॉ. भीमराव अम्बेडकर के नेतृत्व में एक समिति का गठन किया गया और उन्हें भारत के लिए संविधान तैयार करने की जिम्मेदारी दी गई. संविधान समिति द्वारा विभिन्न देशों के संविधान अध्ययन करने के बाद भारत के लोगों के मौलिक हितों को ध्यान में रखते हुए भारत का संविधान तैयार करके विधान परिषद के समक्ष प्रस्तुत किया गया. इसे 26 नवम्बर 1949 को ही अपना लिया गया, लेकिन इसे 26 जनवरी 1950 को प्रभावी रूप से लागू किया गया. 

इस दिन हम उन महान आत्माओं को भी याद करते हैं जिन्होंने देश को आजादी दिलवाने के लिए अपने प्राणों की आहुति दे दी और संविधान को लागू करवाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई. उनकी वजह से ही भारत की आज गणतंत्र देश के रूप पहचान हैं. हमारे देश के महान स्वतन्त्रता सेनानियों और नेताओं भगत सिंह, चन्द्र शेखर आजाद, महात्मा गाँधी, सरदार वल्लभ भाई पटेल, लाला लाजपत राय और लाल बहादुर शास्त्री ने देश को स्वतंत्र करवाने के लिए अपने प्राणों की आहुति दी थी. 

REPUBLIC DAY SPEECH IN HINDI

आज हम 75 वां गणतंत्र दिवस मना रहे हैं. गणतंत्र से तात्पर्य है जनता का शासन केवल देश को सही दिशा में ले जाने के लिए एवं देश प्रगति के लिए प्रतिनिधि के चुनाव का अधिकार केवल जनता को ही है. भारतीय संविधान द्वारा प्रदात शक्तियों के कारण ही आज हम अपने पसंदीदा नेता, मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री का चुनाव कर सकते हैं. 

आज हमें यह प्रतिज्ञा लेनी होगी कि हम अपने कर्तव्यों का निष्ठा से पालन करेंगे और आने वाली पीढ़ियों के लिए मजबूत भारत का निर्माण करेंगे और उन्हें बेहतर भविष्य प्रदान करेंगे. हम सब मिलकर भारत को सशक्त राष्ट्र बनाएंगे. सभी नागरिकों को संविधान के प्रति जागरूक करेंगे और सभी को समान अवसर प्रदान करेंगे. हमें आपसी झगड़े छोड़कर सामाजिक मुद्दों जैसे बेरोजगारी, गरीबी, अशिक्षा, असामनता आदि के बारे में जागरूक होना होगा, और एकजुट होकर इन परेशानियों को हल करना होगा. 

धन्यवाद 
जय हिन्द! जय भारत…. 

Share This Post

Bhavani Shankar

Bhavani Shankar

Leave a Comment

Trending Posts