RBI DISCONTINUED 5 RUPEE COIN

RBI DISCONTINUED 5 RUPEE COIN : आरबीआई ने बंद कर दिया 5 का ये सिक्का बनाना, जानें क्या है कारण 

Samay Samachar Digital Desk, नई दिल्ली : RBI DISCONTINUED 5 RUPEE COIN : हमारे द्वारा छोटे-मोटे लेनदेन करने के लिए 5 रूपये के सिक्के का इस्तेमाल किया जाता है। वहीं पिछले कुछ दिनों से 5 रूपये का मोटे वाला सिक्का बाजार से गायब ही हो गया है। आपके मन में शायद यह सवाल आया होगा कि अचानक ये सिक्का बाजार से गायब क्यों हो गया ? आज के इस आर्टिकल में हम आपके साथ इस सिक्के से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण जानकारियां साझा करेंगे जिन्हें सुनकर आप हैरान रह जाएंगे। 

क्यों गायब हुआ 5 रूपये का मोटे वाला सिक्का 

हम आपको बता दें कि 5 रूपये का पुराना वाला सिक्का काफी मोटा हुआ करता था और इसे बनाने में भी काफी समय लगता था। साथ ही में इसे बनाने के लिए ज्यादा मात्रा में धातू की खपत होती थी। वहीं कुछ लोगों ने इस सिक्के को बनाने में उपयोग होने वाली धातु का दुरूपयोग करना शुरू कर दिया था। जिस धातु का उपयोग 5 का सिक्का (RBI DISCONTINUED 5 RUPEE COIN) बनाने के लिए किया जाता था, उसी धातु से ब्लेड बनती है।  

RBI DISCONTINUED 5 RUPEE COIN : सिक्कों की होती थी अवैध तस्करी 

ऐसे में 5 रूपये के इन सिक्कों की अवैध तस्करी शुरू हो गई। इन सिक्कों को अवैध रूप से बांग्लादेश भेजा जाने लगा। वहां पर इन सिक्कों को पिघलाया जाता था और इस धातु का इस्तेमाल ब्लेड बनाने में किया जाता था। आपको आश्चर्य होगा कि एक सिक्के से कुल 6 ब्लेड्स बनती थी और एक ब्लड की कीमत 2 रूपये थी। RBI को जैसी ही इस बात की जानकारी लगी RBI ने इन सिक्कों का निर्माण बंद कर दिया। 

RBI DISCONTINUED 5 RUPEE COIN
RBI DISCONTINUED 5 RUPEE COIN

RBI ने 5 के सिक्कों को बदला 

अचानक ये सभी सिक्के बाजार से लुप्त होने लगे। सरकार द्वारा खोजबीन करने पर जानकारी मिली के बांग्लादेश के कुछ तस्करों द्वारा इस काम को अंजाम दिया जा रहा है। इसके बाद भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा इन सिक्कों के निर्माण में काम आने वाली धातु और निर्माण की विधि में बदलाव कर दिया गया। 

नया सिक्का है काफी अलग 

अभी भी बाजार में रुपये 5 के सिक्के उपलब्ध हैं, लेकिन वे पुराने वाले 5 के सिक्कों (RBI DISCONTINUED 5 RUPEE COIN) की तुलना में काफ़ी पतले हैं। अब बांग्लादेशी चाहकर भी इन सिक्कों तस्करी नहीं कर पाएंगे, क्योंकि 5 के नए सिक्के के निर्माण में अलग प्रकार की धातु का उपयोग होता है, और इस धातु से ब्लेड बनाना नामुमकिन है। 5 रूपये के पुराने सिक्के को पिघलाने के बात उसकी कीमत और बढ़ जाती थी लेकिन नए सिक्के के साथ ऐसा नहीं है। 

Share This Post

Bhavani Shankar

Bhavani Shankar

Leave a Comment

Trending Posts