LOAN FOR FARMERS AT ZERO INTEREST

LOAN FOR FARMERS AT ZERO INTEREST : सरकार किसानों को देगी बिना ब्याज के 2 लाख का लोन 

Samay Samachar Digital Desk, नई दिल्ली : LOAN FOR FARMERS AT ZERO INTEREST : देश की सरकार द्वारा किसानों की आर्थिक स्थिति सुधारने के प्रयास लगातार किए जा रहे हैं। इसी कारण सरकार द्वारा किसानों को खेती के साथ-साथ अन्य कृषि संबंधित कार्य करने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। जिसमें पशुपालन को एक प्रमुख साधन माना गया है। पशुपालन किसानों के लिए आय का बड़ा और प्रमुख स्रोत माना जाता है। पशुपालन के माध्यम से किसान खेती के साथ-साथ अतिरिक्त आय अर्जित कर सकता है। इसीलिए मध्यप्रदेश सरकार ने किसानों के लिए एक बड़ा फैसला लिया है। जिसके तहत मध्यप्रदेश सरकार द्वारा किसानों को पशुओं की खरीद के लिए बिना ब्याज के लोन दिया जाएगा। 

LOAN FOR FARMERS AT ZERO INTEREST : बैठक में लिया निर्णय 

मध्य प्रदेश के किसानों को पशुओं के लिए जीरो प्रतिशत ब्याज दर पर लोन प्रदान करने का निर्णय मंत्रिमंडल की बैठक में लिया गया। इस निर्णय के तहत, किसानों को पशुओं की खरीद के लिए शून्य प्रतिशत ब्याज दर पर क्रेडिट कार्ड प्रदान किए जाएंगे। राज्य की सरकार को उम्मीद हैं कि इस योजना के क्रियान्वन के साथ किसानों को पशुओं की खरीद में कोई समस्या नहीं होगी। इस योजना को लागू करने के पीछे सरकार की मंशा है कि किसान साहूकारों और बिचौलियों से बचते हुए पशुपालन बढ़ाकर अपनी आय में वृद्धि कर सकेंगे।

मिलेगा 2 लाख का लोन 

LOAN FOR FARMERS AT ZERO INTEREST
LOAN FOR FARMERS AT ZERO INTEREST

मंत्रिमंडल में लिए गए निर्णय के अनुसार, किसानों की आय बढ़ाने के लिए सरकार उन्हें पशुओं की खरीद के लिए अधिकतम 2 लाख रुपये का लोन देगी। यह लोन पूर्णतः शून्य प्रतिशत (LOAN FOR FARMERS AT ZERO INTEREST) ब्याज दर पर दिया जाएगा। इसका मतलब है कि किसानों को केवल लोन की मूल राशि को ही वापिस लौटाना होगा। पशुपालन को बढ़ाने के लिए यह लोन ग्रामीण सहकारी समितियों के माध्यम से दिया जाएगा। किसान लोन की राशि को गाय, भैंस, बकरियाँ, सूअर, मुर्गियाँ आदि को खरीदने के लिए उपयोग कर सकेंगे।

पशुओं का होगा बीमा 

LOAN FOR FARMERS AT ZERO INTEREST
LOAN FOR FARMERS AT ZERO INTEREST

इसी तरह केन्द्र सरकार की एक योजना के तहत मध्यप्रदेश सरकार द्वारा भी पशुधन बीमा योजना का संचालन किया जाता है। इस योजना के तहत राज्य सरकार द्वारा गरीबी रेखा से नीचे जीवन जीने वाले किसानों, अनुसूचित जाति एवं जनजाति के किसानों के पशुओं को 70 प्रतिशत सब्सिडी पर बीमा दिया जाता है। वहीं, सामान्य जाति और गरीबी रेखा से ऊपर जीवन यापन करने वाले किसानों और पशुपालकों के पशुओं का बीमा 50 फीसदी सब्सिडी पर किया जाता है। ध्यान रहे कि इस योजना के अंतर्गत किसान गाय, भैंस, बैल, घोड़ा, गधा, भेड़, बकरी, सुअर, खरगोश आदि जानवरों का बीमा करा सकते हैं।

Share This Post

Bhavani Shankar

Bhavani Shankar

Leave a Comment

Trending Posts